ज़ख़्मी दिन और रात रहेंगे:

SHARE

ज़ख़्मी दिन और रात रहेंगे
ज़ख़्मी दिन और रात रहेंगे कितने दिन
दहशत में लम्हात रहेंगे कितने दिन
हर पतझड़ के बाद है मौसम फूलों का
ख़ाली अपने हाथ रहेंगे कितने दिन
कितनी साँसे किस के पास हैं क्या मालूम
हम तुम दोनों साथ रहेंगे कितने दिन
पढ़ने वाले चेहरा भी पढ़ लेते हैं
पोशीदा हालात रहेंगे कितने दिन
कितने दिन तक वो दिन अपने साथ रहे
ये दिन अपने साथ रहेंगे कितने-कितने दिन!

SHARE
Tags